25 दिसंबर को भारत के पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी 92 वर्ष के हो रहे है. अटल अपने समय के बेहद लोकप्रिय नेता रहें फिर चाहे वह पार्टी में हो या जनता के बीच. अपनी राजनीतिक सूझबूझ और शानदार कविताओं से उन्होंने अपने विपक्षियों समेत सभी लोगों का दिल जीता और अपनी एक अलग जगह बनाई. अटल बिहारी वाजपेयी ने प्रधानमंत्री रहते हुए कई ऐसे फैसले लिए जो देश पर हमेशा के लिए अपनी छाप छोड़ गए, आइए नजर डालते है ऐसे ही कुछ फैसलों पर..

1. दुनिया से नाराज़गी मोल लेकर किया पोखरण परमाणु परीक्षण
11 और 13 मई 1998 को पोखरण में पांच भूमिगत परमाणु परीक्षण विस्फोट कर अटल बिहारी वाजपेयी ने सभी को चौंका दिया. यह भारत का दूसरा परमाणु परीक्षण था, इससे पहले 1974 में पोखरण 1 का परीक्षण किया गया था. दुनिया के कई संपन्न देशों के विरोध के बावजूद अटल सरकार ने इस परीक्षण को अंजाम दिया, जिसके बाद अमेरिका, कनाडा, जापान और यूरोपियन यूनियन समेत कई देशों ने भारत पर कई तरह की रोक भी लगा दी थी जिसके बावजूद अटल सरकार ने देश की जीडीपी में बढ़ोतरी की. पोखरण का परीक्षण अटल बिहारी वाजपेयी के सबसे बड़े फैसलों में से एक है.

2. रिश्ते सुधारने को दिल्ली-लाहौर बस सेवा
भारत-पाकिस्तान के खटास भरे रिश्तों में मिठास भरने के लिए अटल बिहारी वाजपेयी ने ऐतिहासिक दिल्ली-लाहौर बस सेवा की शुरुआत की. इसे सदा-ए-सरहद का नाम दिया गया. अटल बिहारी खुद बस में सवार होकर लाहौर गए थे जहां उनका स्वागत तत्कालीन पाकिस्तानी राष्ट्रपति जनरल परवेज़ मुशरर्फ ने किया था. इस बस सेवा को 2001 में संसद हमले के बाद रोक दिया गया था हालांकि 2003 में इसकी फिर से शुरू किया गया था.

3. ऐतिहासिक चंद्रयान-1 मिशन को मंजूरी
स्पेस के क्षेत्र को बढ़ावा देने के लिए अटल बिहारी वाजपेयी ने चंद्रयान के अभियान को मंजूरी दी, जिसके बाद इसरो इस काम में जुटा. अटल बिहारी वाजपेयी ने अपने 15 अगस्त 2003 को दिए गए भाषण में चंद्रयान-1 अभियान का ऐलान किया था जिसके बाद इसे पूरा कर लिया गया, इसके साथ ही अटल जी ने टेलिकॉम इंडस्ट्री को भी बेहद बढ़ावा दिया. 

4. सर्व शिक्षा अभियान और प्रधानमंत्री ग्रामीण सड़क योजना की शुरुआत
देश में शिक्षा को बढ़ावा देने के लिए और गरीब बच्चों को शिक्षा से जोड़ने के लिए अटल सरकार ने सर्व शिक्षा अभियान की शुरुआत की, जिसके तहत 6 से 14 वर्ष के बच्चों को मुफ्त और अनिवार्य शिक्षा का अधिकार दिया गया. इसके साथ ही अटल सरकार के द्वारा शुरु की गई प्रधानमंत्री ग्रामीण सड़क योजना काफी चर्चित योजनाओं में से एक रही, इसके अंतर्गत देश के हर गांव को उसके जिले या तहसील की मुख्य सड़क से जोड़ा गया. प्रधानमंत्री ग्रामीण सड़क योजना अटल सरकार की सफल योजनाओं में से एक मानी जाती है. 

5. दिल्ली मेट्रो की शुरुआत
आज के समय में दिल्ली की धड़कन कहे जाने वाली दिल्ली मेट्रो के प्रोजेक्ट को मंजूरी और इसकी शुरुआत अटल बिहारी वाजपेयी ने ही की थी. अटल बिहारी वाजपेयी ने इसकी शुरुआत 24 दिसंबर, 2002 को की थी. वाजपेयी ने मेट्रो की पहली लाइन का उद्घाटन कर सीलमपुर से कश्मीरी गेट तक का सफर भी तय किया था. आज दिल्ली मेट्रो दिल्ली से सटे शहर गाजियाबाद, गुड़गांव, नोएडा और फरीदाबाद तक फैल गई है, रोजाना इसमें लाखों लोग सफर करते है. 

Read My Article @ mohitgroverrajneeti.wordpress.com

Follow Me On Twitter - @mohitgrover77